ENTERTAINMENT

झोलाछाप डॉक्टरों और स्वास्थ्य व्यवस्था पर कटाक्ष करती वेब सीरीज में दिखेंगे मुश्ताक खान और चितरंजन त्रिपाठी : ज्योति प्रकाश 
(Yogesh Gautam) Dainikkhabre.com Sunday,01 August , 2021)

वेब सीरीज 'झोला छाप' फिल्म का पोस्टर हुआ रिलीज

FARIDABAD NEWS,01 AUGUST 2021 : आज होटल मैगपाई में जेपी पिक्चर्स के बैनर तले बनी वेब सीरीज 'झोला छाप' का पोस्टर रिलीज किया गया।जिसमे फिल्म निर्माता ज्योति प्रकाश ने बताया कि हमारे देश में बेहतर स्वास्थ्य और चिकित्सा आज भी सबसे बड़ी समस्या मानी जाती है। तमाम सरकारी कोशिशों और योजनाओं के बावजूद बेहतर चिकित्सा का स्तर सही नहीं हो पा रहा. और इन्हीं सरकारी कमजोरियों का फायदा गांव और छोटे कस्बों के कुछ झोलाछाप डॉक्टर उठाते हैं। जो स्थानीय लोगों को अपनी बातों के जाल में फंसाकर उनकी जिंदगी के साथ खिलवाड़ भी कर बैठते हैं। ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य व्यवस्था की इसी चिंताजनक स्थिति और लोगों में इसके प्रति जागरूकता लाने के उद्देश्य से उड़ीसा के एक सच्ची घटना पर आधारित जेपी पिक्चर्स के बैनर तले बनी वेब सीरीज 'झोला छाप' रिलीज के लिए तैयार है। बॉलीवुड अभिनेता मुश्ताक खान, चितरंजन त्रिपाठी और महक मनवानी अभिनीत यह सीरीज जल्द ही ओटीटी प्लेटफार्म के जरिए दर्शकों के बीच होगी। वेब सीरीज का अधिकांश हिस्सा उत्तर प्रदेश के बागपत और हरियाणा में फिल्माया गया है। इस सीरीज की सबसे खास बात यह है कि यह आजकल के हिंसात्मक और भड़काऊं वेब सीरीज से अलग एक साफ़-सुथरी और सामाजिक सरोकार से जुड़े मुद्दे को मनोरंजक अंदाज में दिखाएगी। मुख्य भूमिका निभा रहे बॉलीवुड अभिनेता मुश्ताक खान तकरीबन 200 से अधिक फिल्मों में काम कर चुके हैं। हेराफेरी और वेलकम जैसी फिल्मों के लिए उन्हें आज भी याद किया जाता है। वही चितरंजन त्रिपाठी हाल ही में सेक्रेड गेम्स के त्रिवेदी का किरदार निभाकर काफी चर्चा में रहे थे।  सीरीज में मुख्य अभिनेत्री की भूमिका में महक मनवानी हैं जो पिछले दिनों  फुकरे और दूरदर्शन जैसी फिल्मों में दिखीं थी। कहानी के बारे में बात करते हुए जेपी पिक्चर्स के प्रबंधक और सीरीज के निर्देशक ज्योति प्रकाश ने बताया कि आजादी के सालों बाद भी ग्रामीण इलाकों में लोग अनपढ़-झोलाछाप डॉक्टरों के चंगुल से मुक्त नहीं हो पाए है। आज भी देश में हजारो-लाखों गाँव ऐसे हैं जहाँ लोग सरकार की दी गयी स्वास्थ्य सुविधाओं और तकनीकों के बजाय अनपढ़-झोला छाप डॉक्टर्स पर भरोसा करते हैं।  और इससे हुए नुकसान और भयावह परिणाम को भी वे लोग अपनी नियति मान लेते हैं।  कहानी का मुख्य उद्देश्य ऐसे लोगों में ही जागरूकता लाना है।

प्रोड्यूसर मदन लाल आज़ाद ने बताया कि कहानी की जरूरतों और बेहतरीन लोकेशंस की वजह से शूट के लिए उत्तर प्रदेश और हरियाणा के जिलों का चुनाव किया गया है। मुख्य अभिनेत्री महक मनवानी गांव के असली लोकेशन और स्थानीय लोगों के साथ काम करने को अपने जीवन का बेहतरीन अनुभव बताती हैं। इस कहानी को आज के वक्त की जरूरत बताते हुए अभिनेता चितरंजन त्रिपाठी कहते हैं कि अगर हम अपनी इस कहानी के जरिए कुछ लोगों में भी जागरूकता लाने में कामयाब हुए तो यह हमारी सीरीज की कामयाबी होगी। मदन लाल आज़ाद ने बताया की इस फिल्म में उनका भी किरदार है जिसमे वह गांव के सरपंच की भूमिका में नज़र आएंगे। 

Videos

slider by WOWSlider.com v8.6