FARIDABAD

सर्वोच न्यायालय नहरपार की अधिगृहीत जमीन की सुनवाई करेगा :शिवदत्त वशिष्ठ
(Yogesh Gautam) Dainikkhabre.com Wednesday,29 July , 2020)

Faridabad News, 29 july 2020: नहरपार के उन्नीस गांवों के किसानों ने अपनी अधिगृहीत जमीन का मुआवजा बढवाने के लिए सर्वोच न्यायालय में अपील दायर कर रखी है। जिसकी सुनवाई सर्वोच न्यायालय में आज होनी तय हुई है। इस सुनवाई को लेकर किसानों की एक बैठक गांव बड़ौली में आयोजित की गई जिसमें किसान संघर्स समिति के अध्यक्ष शिवदत्त वशिष्ठ ने सभी किसानों से कहा कि सभी किसान अपने-अपने कागजात तैयार रखें। उच्च न्यायालय ने नहरपार की अधिगृहीत जमीन का अलग-अलग गांव के अनुसार मुआवजा सुनाआ था और मुआवजे की राशि घटा दी थी। इस फैसले को लेकर सभी किसानों ने सर्वोच न्यायालय में अपील दायर की थी। सरकार ने भी मुआवजा घटानें के लिए सर्वोच न्यायालय में अपील दायर की थी। अब इन दोनो अपीलों की अडमिट करते हुए सर्वोच न्यायालय एक साथ सुनवाई करेगा। नहपार के किसानों की जमीन को अधिग्रहन हुये 11 वर्ष बीत गये है। अधित्तर किसानों ने आज तक भी अपना मुआवजा नही उठाया है और ना ही किसों ने अपनी जमीन पर कब्जा दिया है। वशिष्ठ कई बार सरकार से मांग कर चुके है कि किसानों को पंाच करोड़ रूपये प्रति एकड के हिसाब से मुआवजा दिया जाये या फिर नहरपार के किसानों की जमीन को अधिग्रहन से मुक्त किया जाये। प्रदेश सरकारद प्रदेश में किसानों को कई जगह अधिगृहीत जमीन छोड चुकी है। 11 वर्ष पहले नहरपार  कांग्रेस शानकाल में अधिग्रहन हुआ था लेकिन आज तक भी इस अधिग्रहन जमीन पर कोई भी प्रोपोजल नही बना पाई आज भी टुकडों में पड़ी हुई है। इस मौके पर ब्रहम दत्त वशिश्ठ, नेपाल चन्दीला, मिती चन्द, प्रदीप, सुन्दर, वलवान आदि किसान मौजूद थे।
 

Videos

slider by WOWSlider.com v8.6